शांतिनाथ भगवान की हम आरती उतारेंगे।

आरती उतारेंगे हम आरती उतारेंगे

आरती उतारेंगे हम आरती उतारेंगे शांतिाथ भगवान…

हस्तिनापुर में जनम लिये हे प्रभु देव करे जयकारा हो ।

जन्म महोत्सव करें कल्याणक, नाचे झूमे गाये हो ॥

ऐसे अवतारी की अब हम आरती उतारेंगे।

शांतिनाथ भगवान की हम आरती उतारेंगे।

धन्य है माता ऐरा देवी तुम्हें जो गोद उठाईं है ।

विश्वसेन के कुलदीपक ने ज्ञान की ज्योति जगाई है ।

ऐसे अवतारी की अब हम आरती उतारेंगे ।

शांतिनाथ भगवान की हम आरती उतारेंगे।

पंचम चक्रवर्ती पद पाये, जग सुख बढा अपार था ।

द्वादस कामदेव अति सुन्दर जग में बढा ही नाम था ।

ऐसे अवतारी की अब हम आरती उतारेंगे ।

शांतिनाथ भगवान की हम आरती उतारेंगे।

शांति नाथ प्रभु शांति प्रदाता शुचिता सुख अपार दो ।

जनम-मरण दुःख मेटो प्रभुजी लेना शरण में आप हो ।

ऐसे अवतारी की अब हम आरती उतारेंगे ।

शांतिनाथ भगवान की हम आरती उतारेंगे




Leave a Reply.